After being one month in Satna, we’ve asked the Stana kids how they felt, when they first arrived in Satna. Here is what they have to say!

Satna open schoolers with Asha

पंचवती

जब मैं सतना आई थी तो मुझे लग रहा था कि मैं मैम और सर कैसे बात करूगी फिर सर और मैडम ने बताया कि हमें कैसे बोलना चाहिए और अब हम धीरे धीरे बोलने लगे हैं। पहले मैं इंग्लिश नहीं पढ़ पाती थी लेकिन अब थोड़ी थोड़ी मिलाके पढ़ने लगी हूं।जब हम गांव में थे तो हमे गेम का नाम पता नहीं था हम यहां आके फोन में हिन्दी टाइपिंग करना और लुकेसन भेजना सिख लिया है।
Panchavati

When I came to Satna I was thinking that how will I talk to ma’am and sir, then sir and madam told how we should speak and now we are slowly speaking. Earlier I could not read English but now I have started studying little by little. When we were in the village, we did not know the name of the game, we came here and learned to type Hindi in the phone and send Location.

————————

प्रियंका
जब हम सतना पहली बार आए तो थोड़ा डर लग रहा था और थोड़ा मुश्किल भी था क्योंकि जनवार कि याद आ रही थी लेकिन हम लोग सतना आके बहुत खुश हैं, क्योंकि यहां पर अच्छी-अच्छी चीजें भी सीखने को मिल रहीं हैं। और हम लोग बहुत खुश हैं कि हम इतनी अच्छी स्कूल में पढ़ने का मोका मिला है। यहां हम सबको डांस और गाने का भी मौका मिला है यहां आके हमें अपनने कि खुबियां और कमियां बारे में भी पता

Priyanka
When we came to Satna for the first time, it was a bit scary and it was a bit difficult because we were missing Janwaar but we are very happy to come to Satna, because we get to learn good things here. And we are very happy that we have got a chance to study in such a good school. Here we all get to dance and sing, and after coming here we have come to know about our advantages and disadvantages.

————————

विनय
जब हम लोग सतना पढ़ाई करने के लिए आय तो पहली बार हम सबको डर भी लग रहा था लेकिन जब हम सब स्कूल गए तो हम सब वहां पे मैम सर से मिले उन्होंने तो बतया की हमें कैसे बात करनी है ,मैम ने हमें सभी से मिलवाया और फिर हमारे अन्दर का डर धीरे-धीरे खत्म हो गया। हमें अपने अन्दर कि खुबियों के बारे में बताया गया जैसे-चीजो का घमंड करना, गुस्सा करना आदि। यहां पर पुरानी चीजों से और न्यूज़ पेपर से सजावट का समान बनाना सीखा।

Vinay
When we came to study in Satna for the first time we all were scared but when we all went to school, we all met Ma’am and sir there, they told us how to talk, Ma’am introduced us to all And then the fear inside us slowly vanished. We were told about the qualities in us like being proud of things, being angry etc. We have learned to make decorations from old things and from newspapers here.
————————
ब्रजेश
जब में सतना पढ़ने आया तो में बहुत खुश था लेकिन जब में स्कूल में गया तो मुझे बहुत डर लग रहा था लेकिन यहां की मैम ने कहा की हमें कभी डरना नहीं चाहिए और मैम ने हमें सभी टीचरों से मिलवाया और यहां के बच्चों से भी मिलवाया और हमने बच्चों से दोस्ती भी की और मेरे अंदर का डर खत्म हो गया और हमारे गांव में ऐसी पढ़ाई नहीं होती थी और यहां तो बहुत अच्छी पढ़ाई होती है। और हमारे गांव में डांस म्यूजिक जीवन कोसल आदि की क्लास नहीं होती थी लेकिन यहां सब क्लास होती हैं। जीवन कोसल में हमने ये सीखा की हमें अपनी कमियों खूबियां के बारे में पता करना सीखा और हमने यहां आकर ये भी सीखा है जिससे जो भी गलती हो जाती है तों हमें अपनी ग़लती मानना, सीखा और हमने कभी सोचा नहीं था की इतनी बड़ी स्कूल में पढीगे और यहां आकर बहुत सी चीजें भी सीखी जो हमारे लिए नया था।

Brajesh
When I came to Satna to study I was very happy but when I went to school I was very scared as wellbut here Mam said that we should never be afraid and Mam introduced us to all the teachers and also introduced us to the other children here. We also made friends with the children and my fear got over. We didn’t had such education in our village and we have very good education here. And in our village there was no class of dance, music and life skills etc. But all classes are held here in Satna. In the life skills class, we learned about our shortcomings and strengths and after coming here we have learned that whatever mistake we make, we should accept our mistake and learn from it. We never thought that we will study in such a big school. Will study and learn many things by coming here which was new to us.

————————
पूर्ती

जब हम सतना पहली बार आया तो थोड़ा डर रहा था हम सब यहां आकर बहुत खुश है यहां के शिक्षक एवं स्कूल अच्छी है और यहां पर बहुत अच्छी पढ़ाई होती हैं हम बहुत खुश हैं कि हम यहां आने का मीका मिला हम सब बच्चों को एक मोबाइल मिला है जो एक हफ्ते में दो बच्चों के पास रहता है जिसमें हम सब इसमें टाईपिन और लोकेसन भी सिखा है।

Poorti
When we came to Satna for the first time, I was a little scared, we are all very happy to come here, the teachers and school here are good and there is a lot of good education here, we are very happy that we got a chance to come here, all of us got one common mobile which stays with two children in a week, in which we have all been taught typing and finding location.

————————

कल्पना

मैं जब सतना आई तो मुझे अच्छा नहीं लग रहा था जब में स्कूल के अन्दर गई तो केलासिज ली और वहां हमें ये बताया गया कि हमें एक दूसरों से कैसे बात करनी चाहिए फिर मुझे थोड़ा थोड़ा अच्छा लगने लगा और हमारे जनवार के स्कूल में पढ़ाई तो होती हैं पर यहां कि स्कूल में डांस संगीत और स्पोट् होती है और यहां का विधालय बहुत सुंदर है मैंम एवं सर बहुत अच्छे हैं और हमारे पास एक फोन भी है जो हम लोगों को एक हफ्ते के लिए मिलता है हम लोगों उसमें टाइपिंग करना सिखाते हैं हमसे टाइपिंग करते आने लगा है

Kalpana
When I came to Satna, I was not feeling well, when I went inside the school, I took classes and there we were told how we should talk to each other, then I started feeling a little better. In our Janwaar school, there used to be classes but here there is dance, music and sports in the school and the school here ma’am and sir are very nice and we also have a phone which we get for a week we learn typing in it.

————————

दिलाशा
जब हम सतना आए तो मुझे थोड़ा डर लग रहा था पर अब डर नहीं लगता जब हम आए थे तो हमसे अच्छे से बात करनी नहीं आती थी तो स्कूल में बताया गया कि हमें कैसे बात करनी है यहां आके पता चला कि हमारे अन्दर कि खुबियों और कमियां क्या है जिससे हमें पता चला कि हमें हमेशा खुश रहना चाहिए।

Dilsha
When we came to Satna, I was feeling a little scared, but now I am not afraid, when we came, we did not know how to talk well, so we were told in school how to talk, after coming here we came to know our inner qualities and What are our shortcomings that made us know that we should always be happy.

Leave a comment

Your email address will not be published.